मंगलवार, 29 जनवरी 2013

जीवन सांप सीढ़ी के खेल के समान है I (Life is Like Snake and Ladder Game)

दुनिया  में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसने कभी सांप सीढ़ी का खेल न खेला हो I  सांप  और  सीढ़ी का खेल एक  बहुत ही सरल खेल है, जिसमें हम एक अंक से शुरू हो होकर सौ अंक तक पहुँचने की कोशिश करते है I  आगे बड़ते हुए हमें रास्ते में सांप और सीढ़ी मिलती है, सांप आप को पीछे  पहुंचा देता है और सीढ़ी आपको आगे बड़ा देती है I  इस खेल में खिलाड़ियों का आगे पीछे होना चलता रहता है I  कभी जीत के बहुत करीब पहुँचने  वाला खिलाड़ी सांप के डंसने के कारण खेल के आरंभ में पहुँच जाता है और बहुत पीछे चल रहा खिलाड़ी सीढ़ी मिलने के कारण आगे पहुँच जाता है I

 जीवन भी सांप और
सीढ़ी के खेल से काफी मिलता जुलता है क्योंकि जीवन में भी लोगो का आगे पीछे होना लगा रहता है I  कई लोग जीवन में सीढ़ी रूपी अवसर मिलने से  दूसरों से आगे निकल जाते है और वहीं दूसरी तरफ कई आगे निकल चुके लोग सांप रूपी समस्या के कारण जीवन में पिछड़ जाते है I  पुरे जीवन में लोगो का आगे पीछे होना लगा रहता है और कई बार बिल्कुल पिछड़ चुके लोग जीवन में एक सुनहरी अवसर पा कर बहुत आगे आ जाते है I  इसी तरह जीवन में बहुत आगे निकल चुके लोग, समस्याओं का सामना कर के बहुत पिछड़ जाते है I

जीवन में हर व्यक्ति को कभी न कभी सुनहरी अवसर मिलते है और कभी न कभी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है I  इस लिए अगर आप आज जीवन में पिछड़ चुके है तो याद रखे कि  केवल एक सुनहरी अवसर आपको काफी आगे पहुंचा सकता है I  दूसरी तरफ अगर आप जीवन में काफी आगे चल रहे है तो इस बात का घमंड न करे क्योंकि एक मुसीबत आप को पिछाड सकती है I  सांप और सीढ़ी के खेल को  याद रखते हुए हम जीवन के अच्छे और बुरे समय को ठीक ढंग से जी सकते है I 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Popular Posts