सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

मौत को सवीकार करना (प्रकृति का सत्य)

मौत सबसे खतरनाक और कम से कम बोला जाने वाला शब्द है हमारे समाज में क्योंकि यह गलत माना जाता है इसके बारे में सोचना भी. कोई भी मृत्यु को पसंद नहीं करता है क्योंकि मृत्यु एक संबंधित व्यक्ति की सभी गतिविधियों पर एक पूर्ण विराम डालती है. मौत लोगों को दूर ले जाती है, इस दुनिया से, हमारे जीवन से, हमारे परिवार से और मृत्यु केवल लोगों को दूर ही दूर ले जाती है. कुछ लोगों ने विज्ञान और धर्म में शरण ले ली है इस पर जीत पाने के लिए. कई वैज्ञानिकों और संतों ने प्रकृति की इस शक्ति पर जीत पाना चाहा है हालांकि कोई भी इस प्राकृतिक बल पर अभी तक जीत पाने मैं सक्षम हुआ है.

यहाँ तक कि मानव विकास के इतने सालों के बाद भी, मृत्यु हमारे जीवन में एक निरंतर सच है. इस पूरी स्थिति में केवल एक चीज है जो हमारे नियंत्रण में रहती है की इस सच्चाई को स्वीकार करना. इस सच्चाई को स्वीकार करने का लाभ यह है कि हम अपने मन में राहत मिलती है और हमे और अधिक अच्छा एवं पूरण जीवन जीने का मकसद मिलता है. सब कुछ जो एक व्यक्ति इस दुनिया में कमाता है इस दुनिया में मौत के बाद यहाँ रह जाता है और कुछ भी दूसरी दुनिया मैं व्यक्ति के साथ नहीं जाता है, इसलिए इसमें कोई मज़ा नहीं, हम पूरी जिंदगी बर्बाद करे काफी सारा पैसा या अन्य भौतिकवादी चीजों को इकट्टा करने मैं अच्छे जीवन की कीमत पर.

हर व्यक्ति को केवल कुछ साल मिलते है अपने जीवन का आनंद लेन के लिए जबकि सच में वह शेष समय दूसरों पर निर्भर रहता है. इस लिए अपने जीवन को खुशहाल बनाने के लिए और मृत्यु के भय कम करने के लिए, व्यक्ति एक स्वस्थ, परिपक्व, विचारशील और सुखद जीवन जिए अपने अस्तित्व को अधिक मूल्य देने के लिए. व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है. जीवन में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है हमारे आत्म संतुष्टि प्राप्त करने के लिए, यह बहुत मुश्किल है आत्म संतुष्टि के बिना एक वास्तविक जीवन में खुशी पाना और मृत्यु के भय को हटा पाना.

उन लोगों को जो इस आत्म संतुष्टि को प्राप्त कर पते है, जिन्हें हम कई नाम देते है उच्च आध्यात्मिक स्तिति, उपलब्धि भगवान की या सभी इच्छाओं के ऊपर चला गया व्यक्ति, एक मानसिक स्थिति प्राप्त करते है जहाँ कोई मौत उनमें भय पैदा करने में सक्षम नहीं होती हैं. अंत में हम कह सकते हैं कि मौत के डर की इस सच्चाई से डरने में कोई मज़ा नहीं है और हम आसानी एस भय को कम या दूर कर सकते हैं एक पूरा जीवन जी कर है कि हममें कोई इच्छा है इस संसार मैं वापस रहने की बची नहीं है. केवल मौत के डर से, हम केवल हमारे जीवन और हमारे साथ जुड़े लोगों के जीवन की गुणवत्ता को
कम करते है .


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सुदीक्षा भाटी - एक और लड़की कुछ पुरुषों की बीमार मानसिकता का शिकार हो गई

अंग्रेजी में पढ़ें कई सपने और आशाओं के साथ एक अद्भुत लड़की का एक और जीवन कुछ पुरुषों के खराब मानसिक रवैये ने  खो लिया  है जो अभी भी भारत में महिलाओं को हीन सेक्स मानते हैं। सुदीक्षा भाटी भारत की लाखों असहाय लड़कियों के लिए जीवन में कुछ बड़ा हासिल करने की प्रेरणा थीं। उसने एक ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि वह 'महिला सशक्तीकरण और शिक्षा की एक ना माफ़ी मांगने वाली अधिवक्ता है। लेकिन दुख की बात है कि महिला सशक्तीकरण और शिक्षा का उसका अपना सपना कुछ लोगों ने तोड़  दिया।
मोटे तौर पर दो साल पहले, चाय स्टाल के मालिक की बेटी सुदीक्षा भाटी ने शीर्ष अमेरिकी कॉलेज में अध्ययन के लिए एचसीएल से 3.8 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति प्राप्त कर इतिहास रचा था। उसने अपनी सीबीएसई इंटरमीडिएट परीक्षाओं में 98% अंक प्राप्त किए। प्रत्येक भारतीय ने उसकी उपलब्धि पर गर्व महसूस किया और हमें लगा कि हमें एक और महान दिमाग मिला है जो निकट भविष्य में भारतीयों को गर्वित करेगा। हालांकि, किसी ने कभी नहीं सोचा था कि सुदीक्षा भाटी का जीवन इतना छोटा होगा। इस बातचीत का सबसे दुखद बिंदु यह है कि वह एक स्वाभाविक मौत नहीं हुई है बल्कि मा…

क्या हम एक नंगे समाज की रचना कर रहे है? (Are we created a naked Society?)

आज हम सब के सामने एक बड़ा सवाल यह है कि क्या हम एक नंगे समाज की रचना कर रहे है।  नंगे समाज से मेरा मतलब एक ऐसे समाज से है जो समाज आपने उच्च मूल्यों को भूल कर धरातल की और जा रहा हो। आज का समाज बहुत ही खोखली बुनियाद पर टिका हुआ है, जिस कारण से यह तेज़ी से टूटता जा रहा है। पर हैरान करने वाली बात यह है कि हम देख कर भी सब अनदेखा कर रहे है।  आज समाज में बुराई एक बेकाबू हो चुकी जंगल की आग की तरह पुरे समाज को खा जाने के लिए बेकरार है।

आज के समाज में चोर ही राजा है वह ईमानदार लोगों के लिए कानून बना रहा है।  रिश्ते केवल स्वार्थ तक सीमित होकर रह गए है और हर एक दूसरे में बुराई ढूंढने में व्यस्त है।  आज लोग जीवन में ख़ुशी से कहीं अधिक पैसे को महत्व दे रहे है और एक दिन पैसे के फंदे में फंस कर अपने जीवन को गवा भी बैठते है।  अच्छे रिश्तों का तो समाज में एक अकाल आ गया है।  पुँजीपति समाज हर इंसान को एक मशीन बना देना चाहता है और सरकार अपने भ्रष्टाचार से लोगों का खून चूस रही है।

आज इस बात की एक होड़ चल पड़ी है कि कौन कितना अधिक नंगा हो सकता है।  लाखों लोग आत्महत्या कर रहे है, पानी पहले तो मिलता नहीं है और अ…

डाउनलोड करे हिंदी सुविचार की एंड्राइड ऐप (Download Hindi Thoughts (Suvichar) Free Android App)

अब आप हिंदी भाषा में सुंदर हिंदी सुविचार अपने मोबाइल फ़ोन पर भी पढ़ सकते है।  इसके लिए आप को हिंदी विचार की मुफ्त में उपलब्ध एंड्राइड ऐप को डाउनलोड करना होगा।  इस ऐप के द्वारा सैंकड़ो हिंदी विचारों को पढ़ सकते है।  सभी हिंदी विचारों को सुंदर तस्वीरों के रूप में पेश किया गया है।  इन विचारों को अमल में लाकर हम जीवन में कई अच्छे सुधार ला सकते है।

आज के समय में मोबाइल फ़ोन हमारा एक सच्चा साथी बन गया है और इससे हम कई कार्य ले सकते है।  मोबाइल एप्लीकेशन (ऐप) हमारे मोबाइल फ़ोन और अधिक सक्षम बना रही है।  हिंदी विचार की मोबइल ऐप इसी तरफ एक कदम है।  इस ऐप की मदद से आप कभी भी और कही हिंदी सुविचार  पढ़ सकते है और इतना ही नहीं आप इन हिंदी विचारों को अपने मित्रों के साथ बाँट भी सकते हो।

हिंदी विचार ऐप के जरिये आप रोज नये हिंदी सुविचार  भी पढ़ सकते है।  यह ऐप आप को हिंदी विचार का सबसे बड़ा संग्रह प्रधान करती है जो लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

हिंदी विचार ऐप डाउनलोड करने के यहाँ क्लिक करे 

कुछ हिंदी विचार की झलकियाँ






ओर अधिक हिंदी विचार पढ़ने  के लिए जाये  - http://hindithoughts.arvindkatoch.com/

अब Google फ़ोटो के साथ मुफ्त में असीमित चित्रों को संग्रहीत करें

अंग्रेजी में पढ़ेंआज, हम एक डिजिटल दुनिया में रहते हैं और इस दुनिया में, डिजिटल तस्वीरें एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। एक सभ्य कैमरे वाले सस्ते स्मार्टफोन की बदौलत अब कोई भी हजारों तस्वीरों को क्लिक कर सकता है। इससे पहले, फिल्मों के साथ कैमरों के दिनों में, हमारे पास तस्वीरें लेने की क्षमता सीमित थी और यह काफी महंगा मामला था। अब हमें या तो खर्च या चित्रों को विकसित करने के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि स्मार्टफोन हमें सीधे चित्रों की एक डिजिटल कॉपी देता है जिसे किसी भी डिजिटल डिवाइस पर देखा जा सकता है। फोन की भंडारण क्षमता में वृद्धि के साथ, हम अपने मोबाइल पर हजारों चित्रों को संग्रहीत कर सकते हैं।
हालांकि, हर बीतते साल के साथ, हमारे भंडारण में चित्रों की संख्या बढ़ती रहती है और हमें अपने चित्रों को संग्रहीत करने के लिए कुछ वैकल्पिक माध्यम की आवश्यकता होती है। विकल्पों में से एक हार्ड ड्राइव में चित्रों को संग्रहीत करना है, लेकिन ऐसा करने के लिए हमें पहले एक हार्ड ड्राइव खरीदना होगा जो कई लोगों के लिए एक महंगा विकल्प है। इसलिए, हमें एक विश्वसनीय समाधान की आवश्यकता …

चाणक्य के १५ अनमोल विचार (15 most Valuable Quotes of Chanakya)

चाणक्य ने हमें चाणक्य नीति के रूप में एक ज्ञान का खजाना दिया है, जिसका उपयोग हम अपने जीवन का स्तर ऊपर उठाने में कर सकते है। चाणक्य ने केवल अपने ज्ञान के बल पर एक विशाल साम्राज्य की स्थापना की और इस जीवन ज्ञान को हमारे लिए चाणक्य नीति में दर्ज कर दिया। चाणक्य का दिया हुआ ज्ञान आज के समय में भी उतना उपयोगी है, जितना कि वह पहले के समय में था। चाणक्य निति में दी हुए बातों को अपना कर हम अपने जीवन का सत्तर सुधार सकते है और एक सफल इंसान बन सकते है। इसी श्रृंखला में हम आपको चाणक्य के १५ अनमोल विचार पेश कर रहे है, जो आपको जीवन में आगे बढ़ने में मदद कर सकते है।


1)  जो जिसके मन में है, वह उससे दूर रह कर भी दूर नहीं है-

2) जिस घर में दुष्ट स्त्री, छल करने वाला मित्र-

3) भाग्य को अत्यंत शक्तिशाली समझना चाहिए-
4) जो व्यक्ति जीवन में समय का ध्यान नहीं रखता है-
5) जैसे हजारों गायों के मध्य भी बछड़ा अपनी माता-
6) 'असंभव' शब्द का प्रयोग केवल-
7) व्यक्ति अकेला पैदा होता है और अकेले ही मर जाता है-

8) इस संसार में आज तक किसी को भी अपने धन से-

9) अति सुंदर होने के कारण सीता का हरण हुआ-