सोमवार, 13 जुलाई 2009

दिल्ली मेट्रो रेल हादसा

कल के दिल्ली मेट्रो रेल हादसे ने दिल्ली मेट्रो रेल परियोजना पर कई संदेह खड़े कर दिया है। कल का हादसा दिल्ली मेट्रो परियोजना के इतिहास में सबसे बड़ा हादसा था, इस हादसे में छेह लोग मरे गए और दर्जन से अधिक घायल हो गए। इस हादसे कारण दिल्ली मेट्रो के मुखिया श्रीधरन को भी अपना त्याग पत्र देना पड़ा। आज फिर कई लोगो की जान बच गई, जब शतिग्रस्त पुल का हिस्सा निचा गिर गया। इस हादसे की चपेट तीन करेन भी आ गई।

हालाँकि भगवान् का शुक्र है की कोई आदमी इस हादसे में मारा नही गया है। इस हादसे के कारण मुख्या सड़क भी बंद है। इस तरह के हादसों का होना दिल्ली मेट्रो के लिए काफी बुरा है। दिल्ली सरकार के लिए ये बहुत जरुरी हा की वो दोषी व्यक्तियो को सजा दे। पिछले साल तक, दिल्ली मेट्रो परियोजना बहुत बढ़िया ढंग से चल रही थी, पर इस साल के दो हादसों ने सब कुछ बदल कर रख दिया है। दिल्ली मेट्रो पुरे देश का अभिमान है, इस लिया इस परियोजना को सही ढंग से चलाना बहुत जरुरी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Popular Posts